kavita

asato ma sadgamaya

139 Posts

14223 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 2387 postid : 193

तेरी यादों में

Posted On: 30 Mar, 2011 में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

आँखों में आंसूं भरे है तेरी यादों में
हलक से पानी न उतरा तेरी यादों में
हर आहट तेरे आने का आस जगाये
भारी महफ़िल से हम उठकर चले आये
तेरी यादों में
दिल का दर्द नासूर बन गया तेरी यादों में
बह रही है आंसूओं की धार तेरी यादों में
टूटा जो नाज़ुक दिल जुड़ न पाया
रग-रग टूटा जाए तेरी यादों में

| NEXT

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

352 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Spike के द्वारा
July 12, 2016

Golpe fracassado? Refere-se ao que Chave tentou dar, antes de apanhar o autocarro da democracia &#&u10;burg2esa8#8222;? Aquele de que se diz que quando chegas ao teu destino, sais? Bem, Chavez já chegou ao seu destino ( líder vitalício) e já se está a apear há uns tempos.

surendrashuklabhramar5 के द्वारा
March 30, 2011

हर आहट तेरे आने का आस जगाये भारी महफ़िल से हम उठकर चले आये तेरी यादों में अनामिका जी सुन्दर रचना यादें होती ही ऐसी हैं जो चैन नहीं लेने देती जिन्दगी एक प्यास है अनामिका जी रचना में कुछ और जोड़ना था .. सुरेन्द्र शुक्ला भ्रमर५

    anamika के द्वारा
    March 30, 2011

    धन्यवाद ……आप कुछ जोड़ना चाहते थे ???????

    Eternity के द्वारा
    July 12, 2016

    #L’Europe se couche devant le terrorisme et répand via la Suède les mêmes insanités que les vieilles rengaines antisémites depuis deux mille ans ! Le monde ne change pas.Rédigé par : Arrêteztout! | le 07 septembre 2009 à 14:20 |Et ne parlons pas de la colonisation et de l&rrtuo;apasqheid qui sévissent encore au XXIè siècle…

Malkeet Singh JeeT के द्वारा
March 30, 2011

बढ़िया रचना है बस कुछ छोटी नहीं रह गयी ?अनामिका जी http://jeetrohann.jagranjunction.com/2011/03/27/%E0%A4%B9%E0%A5%8B%E0%A4%B2%E0%A4%BF%E0%A4%95%E0%A4%BE-holi-contest/#comment-250

abodhbaalak के द्वारा
March 30, 2011

बहुत सुन्दर रचना अनामिका जी http://abodhbaalak.jagranjunction.com


topic of the week



latest from jagran